NEET चयन और काफूर होती गरीबों की खुशियां बस !

NEET चयन और काफूर होती गरीबों की खुशियां बस ! जैसे ही नीट2019का परिणाम आया तो छात्रों व कोचिंग संस्थानों में दनादन खुशियों का दौर शुरू हो गया!अखबारों में कोचिंग […]

Read more

मन की बात अनिल दुबे आजाद के साथ: कांग्रेस पार्टी नहीं एक विचारधारा है इसे सजाने और संयोजित करने की महती आवश्यकता”

कांग्रेस पार्टी नहीं एक विचारधारा है इसे सजाने और संयोजित करने की महती आवश्यकता” उद्गार मन की बात अनिल दुबे आजाद” के साथ कार्यक्रम में मन की बात करते हुए […]

Read more

लोकसभा चुनाव में आतंकी अजहर मसूद का नाम पर चुनावी मुद्दा

इस बार हो रहे लोकसभा चुनाव में तेजी से बदल रहे चुनावी मुद्दों पर चर्चा करते हुए इसे ऐतिहासिक अभूतपूर्व बताया था। हमने तमाम मुद्दों की चर्चा करते हुए नए […]

Read more

पुलवामा हमले का खौफनाक सच” रक्षा मंत्री लापता और अजीत डोभाल चुप क्यों

साल 2002, गुजरात विधानसभा चुनावों का समय। कुछ समय पहले गुजरात में आए भयानक भूकंप में तत्कालीन भाजपा सरकार की विफलता के बाद स्थितियां भयावह हो चली थी और गुजरात […]

Read more

विश्व जल दिवस पर आओ हम सब मिलकर संकल्प लें पानी न बर्बाद करेंगे न करने देंगे:संपादक अनिल दुबे आजाद

संपादक अनिल दुबे आजाद जल ही जीवन है जीने के लिए जल की महत्वपूर्ण भूमिका है अर्थात जल के बिना जीवन नहीं। “जल है तो कल है” “पानी की एक-एक […]

Read more

हिंदी दैनिक राष्ट्रसाक्षी समाचार पत्र व डीआरएस न्यूज़ 24 वेब न्यूज़ चैनल ऑनलाइन जौनपुर उत्तर प्रदेश और क्रांतिकारी पत्रकार परिषद संस्थापक अनिल दुबे आजाद की तरफ से होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएं और बधाइयां

Read more

शांतिदूत बनने का नाटक करता नापाक पाकिस्तान और विंग कमांडर अभिनंदन की देश वापसी

साठसाला लड़ाकू विमान से दुश्मन के देश में घुसकर हमारे देश पर हमला करने आ रहे उसके फौजी विमानों को खदेड़ने तथा मिसाइल युक्त उसके विमान को धराशायी करने वाला […]

Read more

अनिल दुबे आजाद : बदले परिवेश में पत्रकार अपना धर्म कब तक,क्यों और किसलिए निभाये ?

 बदले परिवेश में पत्रकार अपना धर्म कब तक,क्यों और किसलिए निभाये ? अनिल दुबे आजाद, बदलते परिवेश में भी पत्रकारिता करते काफी वर्ष बीत गए लेकिन आमजन में पत्रकारिता के […]

Read more

धनपशुओं के अखबार व लुटेरे खाऊ कमाऊ पत्रकार और बदलते पत्रकारिता के आयाम व सिद्धांत

पत्रकारिता की शुरुआत मिशन के रूप समाजिक समरसता एवं राष्ट्रीय एकता अखंडता को बनाये रखने के लिये आजादी मिलने के समय की गई थी।वैसे पत्रकारिता के क्षेत्र में नारद जी […]

Read more

पत्रकारों को फूटडालो राजकरो की नीति से बाहर निकलना होगा नहीं तो गोली खाते रहेंगे चौराहों पर पीटते रहेंगे पुलिस से जलील भी… अनिल दूबे आजाद

पत्रकारों को फूटडालो राजकरो की नीति से बाहर निकलना होगा नहीं तो गोली खाते रहेंगे चौराहों पर पीटते रहेंगे पुलिस से जलील भी… अनिल दूबे आजाद सत्य और समाज के […]

Read more
1 2 3 20