जाैनपुर में माेदी जी का पूरा भाषण शुरूआत भारत माता की….। सबके जय राम जी… से किया

जाैनपुर प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने अपने भाषण की शुरूआत भारत माता की….। सबके जय राम जी.. बाेलने से किया। साथ ही कि चाैकियां माई की इस पवित्र धरती काे मैं सादर नमन करता हूं। इस पवित्र भूमि पर जाैनपुर के अलावा मछलीशहर आसपास के क्षेत्राें से पधारे साथियाें काे मेरा प्रणाम। आपका ये प्यार आैर आशीर्वाद मुझे गदगद कर देता है। हमारे दाेनाें प्रत्याशी बता रहे थे आप दाे बजे से आकर बैठे हैं। साथियाें आप एेसी चिलचिलाती धूप में जाे तप कर रहे हैं। ये आप का तब कभी बेकार नहीं जाएगा। मैं इसे व्याज समेत लाैटाऊंगा, वाे भी विकास करके लाैटाऊंगा। भाइयाें चुनाव की आंधी किसे कहतें हैं, क्या कमाल कर दिया है आपने। साथियाें मैं जहां-जहां गया हूं आप सब भरपूर आशीर्वाद दे रहे हैं। भाइयाें-बहनाें मैं सर झुकाकर आप सब काे नमन करता हूं। भाइयाें-बहनाें पांच चरण के बाद स्थिति यह है कि कांग्रेस पार्टी ताे मैंच खेले बगैर ही मैदान से बाहर हाे गई है। वाे मैदान छाेड़कर भाग गए। रही बात सपा आैर बसपा की वाे इस लिए परेशान हाे रहे हैं। वाेट ट्रांसफर के जिस फार्मूले पर ये लाेगाें ने गठबंधन किए थे उसे माेदी के समर्थकाें ने नकार दिया। हर चरण में देश के हिताें की सर्वाेपरी रखते हुए वाेट कर रहे हैं। ये लाेग देश की सुरक्षा आैर आतंकवाद के खिलाफ बात करने के खिलाफ है। साथियाें देश आतंकवादियाें के निशाने पर हाेगा ताे देश का विकास कैसे हाेगा। आप देख सकते हैं श्री लंका में। जहां गाड़ी-बंगला सब था। अब जाैनपुर काे लीजिए, क्या उस दिन काे यहां के लाेग भूल सकते हैं जब श्रमजीवी धमाका हुआ था। जब एक दर्जन से अधिक मासूमाें काे रेल हादसें में हाथ धाेना पड़ा था। 2014 से पहले पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेकर आने वाले अांतकी देश में लाेगाें काे डराते रहते थे। लेकिन पांच वर्ष में देश काे दहलाने वाले नक्सल प्रभावित क्षेत्राें आैर जम्मू कश्मीर तक सीमट गए। कारण साफ है। 2014 के पहले धमाके हाेते थे, निर्दाेष लाेग मरते थे, लेकिन 2014 के बाद ये सब क्याें बंद हुआ। ये माेदी नहीं आपके वाेट ने किया, जाे देश आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है। मजबूत सरकार बनी है। आज सपूत पाकिस्तान में घुसकर आतंकवादियाें काे मारने का काम किए। इतना ही नहीं देश के भीतर छुपे गद्दाराें काे सजा दी जा रही है, यही हमारी नीति है। हमने आतंकवाद आैर नक्सलवाद काे खत्म करने का संकल्प लिया है, तभी देश एक चाैकीदार पर भराेसा करता है। मुझे पता चला कि देश की रक्षा आैर सुरक्षा से बेफिक्र बुआ आैर बबुआ दाेनाें ने मुझे जाैनपुर से आराम करने की सलाह दी है। उनकाें मेरे हाेने से तकलीफ हाेती है। उन्हें लगता है ताे माेदी अगर आराम करेगा शायद उन्हे कुछ आराम हाेगा। अरे बुआ आैर बहुआ जी माेदी अाराम करें या न करें ये जाे यहां प्यार मिल रहा है इसे कैसे राेकाेंगे। माेदी ताे सेवक है आैर सेवक काे आराम हाेता है क्या। ये एेसा सेवक है 365 दिन हर इलाके के लिए दिन-रात लगा रहता है। आराम की आदत जब लग जाती है तब उसकी सीटें 33-35 सीट पर लग जाती हैं। मायावती काे 23 मई के बाद समझ आएगा, जाे उन्हें क्याें प्रदेश से बाह भेजा जा रहा है। समाजवादी पार्टी के लाेगाें ने बाबा साहब काे अपमानित किया। उन्हीं के लिए आज बहन जी वाेट मांग रही है। पांच साल पहले इसी जाैनपुर में बेटा ज्यादा जहरिला है, यही शब्द बहन जी ने जाैनपुर में कहा था। अरे बहन जी जरा यह भी बताइए क्या आप इस जहर काे गरीब, पीड़ित आैर शाेषित लाेगाें में बांटने में लगी है। सपा-बसपा ने यूपी में यही राजनीति की है। ये यूपी में भेदभाव करती रहती हैं। 22 साल पहले तक बिजली कैसे आैर कितनी मिलती थी ये याद है न। बुआ-बबुआ की सरकार में बिजली की सप्लाई स्टेटस सिब्बल बन गई थी। ज्हां का मंत्री जितना पावर फुल उतनी बिजली ये बात जाैनपुर के लाेगाें से ज्यादा काैन जानता है। याेगी की सरकार में भाजपा सरकार आई ताे सबका साथ-सबका विकास हुआ।

डीआरएस न्यूज़ नेटवर्क

Leave a Reply